दर संविदा

वर्तमान में डी.जी.एस.एंड डी. की मुख्‍य भूमिका सामान्‍य उपभोक्‍ता मदों के लिए दर संविदा तय करना है जिसका प्रचालन सरकार के उपभोक्‍ता विभागों द्वारा किया जाएगा। डी.जी.एस.एंड डी. ऐसी मदों की पहचान कर रहा है जिनकी सरकारी संगठनों द्वारा अनुमानित वार्षिक खरीद सामान्‍यत: 2.5 करोड़ रूपये सालाना से अधिक है और वह ऐसी मदों को दर संविदा में शामिल भी कर रहा है। डी.जी.एस.एंड डी. की नीति के तहत विनिर्माताओं के साथ दर संविदा तय करता है। जिन मामलों में विनिर्माता अपने उत्‍पादों का स्‍वयं विपणन नहीं करते हैं उनमें डी.जी.एस.एंड डी. उसके स्‍थान पर एकमात्र वितरक/क्रय एजेंट पर विचार करती है। आयातित भंडारों के लिए डी.जी.एस.एंड डी. आयातित भंडारों के स्‍टाकिस्‍टों/पूर्तिकारों से व्‍यवहार करती है बशर्ते विदेशी विनिर्माताओं के साथ उनके सत्यापित संबंध हों तथा वे पुर्जों की आपूर्ति और बिक्री के बाद सेवा की गारंटी देते हों। इसके लिए भारत में विक्रयोत्‍तर सेवा के लिए पर्याप्‍त अवसरंचना अपेक्षित है।

डी.जी.एस.एंड डी. मांगकर्ताओं द्वारा दर संविदा पर दिए गए आदेशों पर भंडारों का निरीक्षण करता है यदि वह डी.जी.एस.डी द्वारा निरीक्षण चाहते है। यह भंडारों के पूर्णत: दर संविदा के विशिष्‍टिकरण के अनुरूप होने तथा उसका उपयुक्‍त गुणता का होना सुनिश्‍चित करता है । डी.जी.एस.एंड डी. का गुणता आश्‍वासन स्‍कंध सरकारी विभागों द्वारा दर संविदा के बाहर खरीदे जा रहे भंडारों के शुल्‍क की अदायगी पर निरीक्षण करता है, इसके अतिरिक्‍त यह राज्‍य सरकारों/निजी क्षेत्र के उपक्रमों तथा अन्‍य सरकारी संगठनों के लिए निरीक्षण भी करता है ।

दर संविदा योजना के लाभ :

क्रेताओं के लिए

  • न्‍यूनतम प्रतियोगी कीमतों पर थोक दरों की सुविधा ।
  • बहु प्रयोक्‍ता स्‍थानों के से मुस्किल और बार-बार टेंडर करने की उकताऊ प्रक्रिया में लगने वाले समय और श्रम की बचत होती है ।
  • जब जहॉं आवश्‍यकता हो खरीदारी की जा सकती है ।
  • समय पर आपूर्ति की उपलब्‍धता इनवेंटरी लागत कम करती है।
  • पूर्ण गुणता आश्‍वासन के साथ अच्‍छी गुणवत्‍ता वाली वस्‍तुओं की उपलब्‍धता ।

पूर्तिकर्ताओं के लिए

  • बहु उपभोक्‍ता स्थानों पर निविदा प्रक्रिया और अनुवर्ती कार्रवाई किए बिना भारी मात्रा में खरीद की जा सकती है – प्रशासनिक और विपणन प्रयासों तथा उपरी खचों में बचत होती है । दर संविदा के माध्‍यम से सम्‍मान मिलता है और छवि सुधरती है ।
http://commerce.nic.in/, Ministry of Commerce and Industry : External website that opens in a new window
https://mygov.in, My Government : External website that opens in a new window
http://www.makeinindia.com/home, Make in india : External website that opens in a new window
http://digitalindia.gov.in, Digital India : External website that opens in a new window
http://www.skillindia.in, Skill India : External website that opens in a new window
http://startupindia.gov.in/, Startup India : External website that opens in a new window
Back to Top